छत्तीसगढ़ में सहकारिता आंदोलन बना जनआंदोलन: डॉ. रमन सिंह : मुख्यमंत्री ने अटल नगर में किया ‘दीनदयाल सहकार भवन’ का लोकार्प

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि छत्तीसगढ़ में सहकारिता आंदोलन जन आंदोलन बन गया है। प्रदेश में सहकारिता क्षेत्र का सबसे अधिक विकास हुआ है। सब एक के लिए और एक सबको के लिए की पावन भावना के साथ प्रदेश में सहकारिता आंदोलन निरंतर सशक्त हो रहा है। मुख्यमंत्री आज यहां अटल नगर में छत्तीसगढ़ राज्य सरकारी बैंक (अपैक्स बैंक) के मुख्यालय भवन ‘दीनदयाल सहकार भवन’ का लोकार्पण करने के बाद सहकारिता सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे।
मुख्यमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ में सहकारिता क्षेत्र का जितना विकास हुआ है, उतना किसी अन्य राज्य में नहीं हुआ है। छत्तीसगढ़ में रसोई गैस कनेक्शन की एजेंसी के साथ-साथ सार्वजनिक वितरण प्रणाली, समर्थन मूल्य पर धान खरीदी की बड़ी जिम्मेदारी वाला काम सहकारिता क्षेत्र को सौंपा गया है। इसके अलावा सहकारिता का क्षेत्र किसानों को खाद-बीज, कृषि कार्यों के लिए शून्य प्रतिशत ब्याज दर पर ऋण उपलब्ध कराने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। उन्होंने कहा कि इस साल अच्छी फसल के कारण अनुमान है कि लगभग दस हजार करोड़ रूपए की धान खरीदी और 2400 करोड़ रूपए के धान बोनस का भुगतान सहकारिता के माध्यम से किसानों को किया जाएगा। इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल, कृषि एवं जल संसाधन मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल, सहकारिता और पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री श्री दयालदास बघेल और छत्तीसगढ़ भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण मंडल के अध्यक्ष श्री मोहन एंटी भी उपस्थित थे।
डॉ. सिंह ने कहा कि वर्ष 2001 में किसान सहकारी बैंकों से लगभग डेढ़ सौ करोड़ का ऋण लेते थे, जबकि आज किसान तीन हजार 560 करोड़ रुपए का ऋण ले रहे हैं। वर्ष 2003 में लगभग दो हजार करोड़ की ही धान खरीदी समर्थन मूल्य पर की जाती थी। उन्होंने कहा कि नया रायपुर का नामकरण अटल नगर होने के बाद यह पहला भवन है, जिसका उद्घाटन किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सहकारिता प्रतिनिधियों द्वारा अटल नगर में बनने वाले भव्य अटल स्मारक के लिए गांव-गांव से लाई गई पवित्र माटी का उपयोग स्मारक में किया जाएगा। सहकारिता एवं संस्कृति मंत्री श्री दयालदास बघेल ने सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए कहा कि राज्य सरकार किसानों की मदद के लिए हर संभव प्रयास कर रही है। खेती-किसानी से जुड़ा हर महत्वपूर्ण कार्य सहकारिता के माध्यम से किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि भविष्य में भी सहकारिता विभाग के माध्यम से किसानों के सहयोग के लिए हर संभव कार्य किए जाएंगे। अपैक्स बैंक के अध्यक्ष श्री अशोक बजाज ने कहा कि ‘दीनदयाल सहकार भवन’ पूरे प्रदेश के किसानों के लिए एक महत्वपूर्ण केन्द्र है। इस भवन का निर्माण लगभग आठ करोड़ 50 लाख रूपए की लागत से निर्मित इस पांच मंजिला भवन का निर्माण 40 हजार वर्गफीट में किया गया है। जहां एक अच्छा कॉन्फ्रेंस हॉल के साथ एटीएम सहित बैंक की शाखा भी होगी। उन्होंने कहा कि आज सहकारिता प्रतिनिधियों ने मुख्यमंत्री को अटल स्मारक के लिए पवित्र माटी सौंपी है। इस माटी के माध्यम से अटल स्मारक में सहकारिता कार्यकर्ताओं की भागीदारी सुनिश्चित होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *